बांझपन के इलाज के लिए कौन-से आयुर्वेदिक उपचार है सहायक ?

निसंतान-जोड़ो-को-आयुर्वेदिक-ने-दिया-संतान-प्राप्ति-का-वरदान-!
AyurvedaAyurvedicInfertility

बांझपन के इलाज के लिए कौन-से आयुर्वेदिक उपचार है सहायक ?

  • June 28, 2023

  • 36 Views

आयुर्वेदिक में हर तरह की बीमारी का इलाज पुरातन समय से ही मिलता आ रहा है इसके अलावा अभी तक आप सभी ने आईवीएफ (IVF) के जरिये बांझपन का इलाज सुना पर आज के लेख में हम बांझपन का इलाज आयुर्वेदिक में किस तरीके से किया जाता है के बारे में जानेगे। वही बांझपन का इलाज आयुर्वेदिक तरीके से करवाने का कोई नुकसान तो नहीं है इसके बारे में बात करेंगे, इसलिए इसके बारे में जानने के लिए आर्टिकल के साथ अंत तक बने रहें ;

आयुर्वेद क्या है ?

  • आयुर्वेद पुरातन समय से ही चलती आ रही और इसमें हर तरह की बीमारी का इलाज अच्छे से मिल जाता है। बस इसमें से एक बात ध्यान देने वाली है की आपको अगर सामान्य सी भी समस्या उत्पन हो जाए तो इससे निजात पाने के लिए आपको समय रहते बेस्ट आयुर्वेदिक डॉक्टर का चयन करना चाहिए।

आयुर्वेदिक में बांझपन की समस्या का समाधान किस तरह से मौजूद है ?

  • “स्वीडनम” एक ऐसी प्रक्रिया है जिसे आयुर्वेदिक डॉक्टरों द्वारा बांझपन से गुजर रहे रोगियों में भारी पसीना लाने के लिए उपयोग किया जाता है। स्वीडनम मानव शरीर में सभी विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने के लिए किया जाता है।
  • “वामनम्” एक ऐसी प्रक्रिया है जिसका उपयोग आम तौर पर मानव शरीर के अंदर के अपाच्य भोजन को उल्टी के माध्यम से बाहर निकालने के लिए किया जाता है।
  • अक्सर कहा जाता है कि “बरगद के पेड़” के कई स्वास्थ्य लाभ हैं और उनमें से एक लाभ बांझपन के इलाज में भी उपयोगी है। इस उपचार के दौरान, बरगद के पेड़ की छाल को सुखाकर पाउडर के रूप में चीनी के साथ मिलाया जाता है। जो विकास हार्मोन के उत्पादन को बढ़ावा देने में फायदेमंद है।
  • आयुर्वेद में “कचनार गुग्गुल” कई औषधियों से मिलकर बनता है। इस औषधि का उपयोग हार्मोनल संतुलन के लिए होता है।
  • जिन महिलाओं को गर्भधारण करने में समस्या होती है, तो आयुर्वेद के अनुसार उन्हें “​गंभारी फल” का उपयोग करना चाहिए क्युकि ये फल काफी अच्छा माना जाता है।
  • “चंद्रप्रभा वटी” के इस्तेमाल से महिलाओं में इंफर्टिलिटी की समस्या को दूर किया जा सकता है। दरअसल , आयुर्वेद में इस जड़ी-बूटी का उपयोग ओव्यूलेशन डिसऑर्डर को दूर करने के लिए होता है। अगर आप आयुर्वेदिक तरीके से बांझपन का इलाज करवाना चाहते है तो बेस्ट आयुर्वेदिक क्लिनिक का चयन करें।
  • “लाजवंती जड़ी-बूटी” का सेवन वो महिलाएं करें। जो प्राकृतिक रूप से गर्भधारण न कर पाने की समस्या का सामना कर रहीं है।
  • “पुत्रजीवक बीज” से संतान प्राप्ति की इच्छा पूरी हो सकती है। इस बीज से महिलाओं के बांझपन की समस्या का उपचार किया जा सकता है।

बांझपन के इलाज के लिए बेहतरीन आयुर्वेदिक हॉस्पिटल ?

  • अगर आपने आयुर्वेदिक तरीके से बांझपन की समस्या का समाधान करने के बारे में सोच ही लिया है तो इसके लिए आपको दीप आयुर्वेदा हॉस्पिटल का चयन करना चाहिए। जिससे आप बांझपन की समस्या से छुटकारा पाकर, संतान प्राप्ति आसानी से कर सकती है।

निष्कर्ष :

  • उम्मीद करते है की आपको पता चल गया होगा की किस तरह से आयुर्वेद में भी बांझपन की समस्या का इलाज व दवाइयां आसानी से मिल जाती है।