आयुर्वेद की मदद से डायबिटीज को कंट्रोल करके कैसे ब्लड शुगर व अन्य बीमारियों पर काबू पाया जा सकता है!

Ayurveda provides the finest root cause diagnosis
AyurvedicAyurvedic Doctor

आयुर्वेद की मदद से डायबिटीज को कंट्रोल करके कैसे ब्लड शुगर व अन्य बीमारियों पर काबू पाया जा सकता है!

  • September 1, 2023

  • 98 Views

डायबिटीज की बात करें तो इसका इलाज मिलना काफी मुश्किल है, एलोपैथी में इसलिए जरूरी है की अगर आपको पता लगें की आपमें डायबिटीज के कुछ लक्षण नज़र आने लगें तो आयुर्वेदिक उपाय का सहारा आपको लेना चाहिए, ताकि आपके बीमारी का इलाज अच्छे से किया जा सकें ;

डायबिटीज की समस्या से कैसे बरतें सतर्कता !

  • सबसे पहले तो डायबिटीज में लोगों को अपने खाने-पीने को लेकर बहुत सतर्क रहना पड़ता है, क्युकि खाने में जरा सी लापरवाही आपके शुगर लेवल को बढ़ा सकते है।
  • डायबिटीज के मरीज को हेल्दी लाइफस्टाइल अपनानी चाहिए, इसके अलावा उन्हे अपने वजन को भी कंट्रोल में रखना चाहिए।
  • मधुमेह को नियंत्रण में लाने के लिए कई आयुर्वेदिक दवाओं और अर्क का इस्तेमाल किया जाता है।
  • आयुर्वेद में ऐसी कई चीजें है, जिनके इस्तेमाल से आप डायबिटीज को कंट्रोल में रख सकते है।

डायबिटीज के दौरान कौन-से लक्षण नज़र आते है ?

  • डायबिटीज के लक्षण की बात करें तो इसको टाइप-1 और टाइप-2 के लक्षणों में विभाजित किया गया है।
  • वहीं टाइप-1 मरीज़ में डायबिटीज के लक्षण बहुत तेजी से बढ़ते है।
  • जबकि टाइप-2 के मरीज में डायबिटीज के शुरुआती लक्षण काफी कम नजर आते है, इसके अलावा टाइप-1 और टाइप-2 डायबिटीज के मुख्य लक्षणों में शामिल है –
  • बहुत प्यास का लगना।
  • बार-बार टॉयलेट जाना।
  • बहुत भूख लगना।
  • अचानक से वजन का बढ़ना या घटना।
  • थकान महसूस करना।
  • चिड़चिड़ेपन की समस्या का सामना करना।
  • आंखों में धुंधलेपन की समस्या का सामना करना।
  • घाव का देरी से भरना।
  • स्किन में इंफेक्शन की समस्या।
  • ओरल इंफेक्शन्स का सामना करना।
  • वजाइनल इंफेक्शन्स आदि।

डायबिटीज के लक्षण ज्यादा गंभीर होने से पहले ही बेस्ट आयुर्वेदिक डॉक्टर के संपर्क में आए।

डायबिटीज के मरीजों को किन बातों का ध्यान रखना चाहिए ?

  • डायबिटीज के मरीजों को रोजाना सुबह और शाम की सैर करनी चाहिए।
  • कोशिश करें कि आप फलों के जूस पीने के बजाय ताजे फल खाएं।
  • खाना खाने के तुरंत बाद सोने या लेटने की आदत छोड़ दें।
  • ढेर सारा पानी पीते रहें।
  • रोजाना सुबह अपने ब्लड शुगर लेवल्स को जरूर चेक करें।
  • फाइबर वाली डाइट का ज्यादा मात्रा में सेवन करें।

डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए बेहतरीन आयुर्वेदिक उपाय ! 

  • डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए आप अंजीर के पत्तों का इस्तेमाल कर सकते है. इसमें मधुमेह विरोधी गुण होते है, जिससे ब्लड शुगर का लेवल कम करने में मदद मिलती है।
  • डायबिटीज के रोगियों के लिए मेथी बहुत फायदेमंद होती है, मेथी के बीज का सेवन करने से ब्लड शुगर कंट्रोल रहता है। आप एक चम्मच मेथी के बीज को रात भर एक गिलास पानी में भिगोकर रख दे, सुबह खाली पेट इन बीजों और पानी को पी लें, इसके करीब 30 मिनट बाद तक कोई दूसरी चीज न खाएं। ऐसा करके आप काफी अच्छा महसूस करेंगे।
  • मसालों में दालचीनी का उपयोग सभी के घरों में होता है, दालचीनी के कई फायदे है. स्वाद और खुशबू बढ़ाने के अलावा डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए भी दालचीनी का उपयोग किया जाता है. इसमें मधुमेह विरोधी गुण पाए जाते है. दालचीनी के उपयोग से ब्लड शुगर लेवल कम करने में मदद मिलती है. इसके लिए आपको हर रोज आधा चम्मच दालचीनी पाउडर का सेवन करना चाहिए।
  • अंगूर के बीजों में डायबिटीज को कंट्रोल करने वाले गुण पाए जाते है, इसमें विटामिन-ई, फ्लेवोनोइड्स, लिनोलिक एसिड जैसे तत्व पाए जाते है, जो मधुमेह के इलाज में प्रभावशाली साबित होते है।
  • नीम को कई आयुर्वेदिक दवाओं में इस्तेमाल किया जाता है, नीम के पत्ते और रस से डायबिटीज को कंट्रोल करने में भी मदद मिलती है।

आप चाहें तो डायबिटीज का इलाज बेस्ट आयुर्वेदिक क्लिनिक से भी करवा सकते है।

सुझाव :

डायबिटीज के मरीज़ को अगर इस बीमारी से निजात पाना है तो इसके लिए उन्हें अपने वजन पर नियंत्रण रखना चाहिए, और साथ ही खाने पर थोड़ा नियंत्रण जरूर रखें।

डायबिटीज के इलाज के लिए बेस्ट आयुर्वेदिक हॉस्पिटल !

अगर आप चाहते है की आपको डायबिटीज की समस्या का सामना न करना पड़े, तो इसके लिए आपको जल्द दीप आयुर्वेदा हॉस्पिटल का चयन करना चाहिए।

निष्कर्ष :

डायबिटीज की समस्या गंभीर है ये मानने वाली बात है, इसलिए जरूरी है इसे ज्यादा गंभीर होने ही न दिया जाए और इसके इलाज के लिए डॉक्टर के सम्पर्क में आए। वहीं किसी भी तरह के उपाय को अपनाने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर सलाह लें।